Career in Freelancing: फ्रीलांसिंग में करियर कैसे बनाएं? इस स्ट्रैटेजी से करें काम, घर में रहकर कमा सकते हैं लाखों रुपये

“क्या आप भी ऑफिस की बंदिशों से मुक्त होकर घर से कमाई करना चाहते हैं? फ्रीलांसिंग आपके सपनों को साकार करने का बेहतरीन तरीका हो सकता है!”

कोरोना महामारी के बाद से फ्रीलांसिंग में करियर बनाने के विकल्पों में काफी इजाफ़ा हुआ है। अब बड़ी संख्या में लोग ऑफिस जाने के बजाय घर में रहकर काम करना पसंद कर रहे हैं। अगर आप भी फ्रीलांसिंग में करियर बनाना चाहते हैं, तो इसके लिए एक आपको सही रणनीति तैयार करके नई शुरुआत कर सकते हैं।

Career in Freelancing

फ्रीलांसिंग: घर से काम करने का बेहतरीन विकल्प

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

फ्रीलांसिंग का मतलब है घर से काम करना। कंटेंट राइटिंग, ग्राफिक्स डिजाइनिंग से लेकर आईटी फील्ड तक में फ्रीलांसिंग के बहुत सारे ऑप्शन उपलब्ध हैं। जो लोग 9-5 की जॉब नहीं करना चाहते या अपना साइड बिजनेस शुरू कर रहे हैं, उनके लिए फ्रीलांसिंग से थोड़ी कमाई करना बेस्ट रहता है। कॉलेज स्टूडेंट्स या फ्रेशर्स के लिए भी फ्रीलांसिंग एक बेहतरीन विकल्प है।

कई कंपनियां फ्रीलांसर्स के लिए समय की बाध्यता नहीं रखतीं, यानी फ्रीलांसर्स अपने समय के अनुसार काम कर सकते हैं। इससे आपकी इनकम के सोर्स बढ़ते हैं और आप अपने काम में परफेक्ट हो सकते हैं। अगर आप फ्रीलांसिंग में करियर बनाना चाहते हैं, तो इन 8 टिप्स को फॉलो करके अपने फ्यूचर को एक नई दिशा दे सकते हैं। घर से ही आप आसानी से लाखों की कमाई कर सकते हैं और खुद को एक ब्रांड के तौर पर स्थापित कर सकते हैं।

ये भी पढ़े:

1. आपकी स्किल्स क्या हैं?

फ्रीलांसिंग में काम किसी ऐसे क्षेत्र में करना चाहिए जिसमें आपकी रुचि हो। अगर रेगुलर जॉब करने के बाद भी आपके पास समय बचता है, तो आप अपनी हॉबी या इंटरेस्ट को सूट करने वाला काम फ्रीलांसिंग के तौर पर कर सकते हैं। अगर आपने कॉलेज या पुरानी नौकरी के दौरान कोई स्किल सीखी है, तो उसी में फ्रीलांसिंग का ऑप्शन ढूंढकर उसमें परफेक्ट हो सकते हैं। बाद में आप चाहें तो उसी क्षेत्र में फुल टाइम जॉब भी कर सकते हैं।

2. फॉर्मल स्किल कैसे सीखें?

अगर आपकी किसी क्षेत्र में रुचि है लेकिन उसकी फॉर्मल नॉलेज नहीं है, तो आप ऑनलाइन कोर्स के जरिए उसके बेसिक्स सीख सकते हैं। Coursera, Udemy, Google Career Certificates और खान एकेडमी में फ्री और कम फीस के कई ऑनलाइन कोर्स उपलब्ध हैं। आप इनमें से किसी में भी एनरोल कर सकते हैं और अपनी स्किल्स को बढ़ा सकते हैं।

3. सही स्ट्रैटेजी कैसे बनाएं?

किसी भी सॉलिड प्लान के बिना आप फ्रीलांसिंग नहीं कर सकते हैं। आप चाहें तो ChatGPT के जरिए एक बढ़िया स्ट्रैटेजी तैयार कर सकते हैं। अगर आप सिर्फ फ्रीलांसिंग का ही काम करना चाहते हैं, तो ChatGPT को अपना बिजनेस प्लान बताएं। वह आपके लिए सिंपल मार्केटिंग स्ट्रैटेजी तैयार कर देगा। उस पर काम करके आप अपने पर्सनल, प्रोफेशनल और फाइनेंशियल गोल्स को आसानी से अचीव कर सकते हैं।

4. अपना पोर्टफोलियो कैसे बनाएं?

फॉर्मल अनुभव के बिना पोटेंशियल कस्टमर्स को अट्रैक्ट कर पाना मुश्किल हो जाता है। इसलिए अपनी सर्विस को सेल करने से पहले सैंपल प्रोजेक्ट तैयार कर लें। इन्हें आप अपने दोस्तों और सर्कल में फॉरवर्ड कर सकते हैं। इससे आपकी क्रेडिबिलिटी एस्टैब्लिश करने में मदद मिल जाएगी। शुरुआत में आप नॉन प्रॉफिट काम भी कर सकते हैं। पोर्टफोलियो की मदद से करियर को बूस्ट देना आसान हो जाएगा।

5. ऑनलाइन प्रेजेंस कैसे बनाएं?

किसी वेबसाइट बिल्डर की मदद से एक वेबसाइट बना लें और वहां अपना पोर्टफोलियो शेयर करें। उसमें अपने नाम, बिजनेस और कॉन्टैक्ट डिटेल्स जैसी बेसिक जानकारियां अपडेट करें। अपने बिजनेस के लिए एक प्रोफेशनल ईमेल अड्रेस भी तैयार कर सकते हैं। जिन लोगों के साथ या जिनके लिए काम किया हो, उनसे टेस्टिमोनियल लिखवा लें और विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर ज्यादा एक्टिव रहने की कोशिश करें।

6. फ्रीलांसिंग प्लेटफॉर्म कैसे जॉइन करें?

आप जिस क्षेत्र में फ्रीलांसिंग करना चाहते हैं, उससे जुड़ी वेबसाइट पर अपना अकाउंट बना लें। इससे काम ढूंढना आसान हो जाएगा। Fiverr, Freelancer और Upwork सबसे कॉमन फ्रीलांसिंग वेबसाइट्स हैं। आप इन पर अपना प्रोफाइल क्रिएट कर सकते हैं। जब काम मिलने लगे और आप थोड़ी कमाई करने लगें, तो हाईली स्किल्ड प्रोफेशनल्स के लिए बनाई गईं वेबसाइट्स पर भी प्रोफाइल बना सकते हैं, जैसे- Toptal या Catalant Technologies।

7. रिसर्च कैसे करें?

फ्रीलांसिंग का काम शुरू करने से पहले मार्केट की रिसर्च करना जरूरी है। आपको अपने काम की कीमत पता होनी चाहिए। इसके लिए कई फैक्टर्स को ध्यान में रखना होगा: आपकी इंडस्ट्री क्या है, आप कहां से काम कर रहे हैं, आप कितने घंटे काम कर सकते हैं और आपके पास कितना अनुभव है।

8. क्वालिटी पर फोकस कैसे करें?

फ्रीलांसिंग का मतलब है अपने काम की पूरी जिम्मेदारी लेना। इसमें आप अपनी गलती की जिम्मेदारी किसी और पर नहीं डाल सकते। अपनी टाइमलाइन तय करें और उसमें टालमटोल न करें। क्लाइंट को परफेक्ट काम करके दें, कुछ भी अधूरा ना छोड़ें। आपके काम में क्वालिटी नजर आएगी तो रेफरल भी ज्यादा मिलेंगे। LinkedIn पर एक्टिव रहने से भी काम काफी आसान हो सकता है।

इसी प्रकार की जानकारी के लिए हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े।

Join Telegram GroupClick Here
Join Whatsapp GroupClick Here
Official WebsiteClick Here

Leave a Comment